Skip to content Skip to left sidebar Skip to right sidebar Skip to footer

पूनम रामकरण प्रजापति

आज हम शहर की एक ऐसी शख्सियत से रूबरू होंगे जिन्होंने सामाजिक कार्यों की बदौलत राष्ट्र के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय ख्याति भी प्राप्त की है

आपके कार्यों का हर एक कदम गरीब असहाय की सेवा और भारतीय विकास के मसीहा के रूप में रहा है…

अपनी कड़ी मेहनत, त्याग, निराश्रित की दुआओं की बदौलत आपने वह मुकाम पाया है जो हर किसी के लिए संभव नहीं है

आपकी दैनिक दिनचर्या में सूर्योदय गरीब बच्चों की सहायतार्थ और सूर्यास्त भी सामाजिक सेवा में ही होता है

आपने अपने जागरूक अभियानों के बल पर सरकारी योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाया है जिन्हें इनकी वास्तविक आवश्यकता होती है आपके समय-समय पर जागरूकता अभियान का ही परिणाम है कि ग्रामीण महिला बच्चे बुजुर्ग भी अपने अधिकार के बारे में बखूबी जानने लगे हैं

अपने नैतिक सामाजिक कर्तव्य का पालन करते हुए आपको विभिन्न स्तर पर राजकीय राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय सम्मान एवं पुरस्कार से नवाजा गया है

आपने पूनम फाउंडेशन शिक्षा अभियान के तहत हर शहर हर गांव में एंबेस्डर नियुक्त किए ताकि धरातल पर दीन दुखी असहाय गरीब परिवार की मदद की जा सके

यदि आपको प्राप्त हुए पुरस्कारों की बात की जाए तो उस पर पूरी किताब लिखी जा सकती है जो कि इस फेसबुक पेज पर लिखना असंभव है…

आप नाइजीरिया के चांसलर द्वारा चौधरी आर्ट ट्रस्ट के सौजन्य से मानद पीएचडी (डॉक्टरेट) उपाधि से विभूषित है.

आपने हजारों असहाय बच्चों जरूरतमंद बच्चों को स्टेशनरी जूते स्वेटर कपड़े उपलब्ध करवाएं और उन्हें निशुल्क शिक्षा अभियान से जोड़कर शहर ही नहीं बल्कि पूरे भारतवर्ष का गौरव बनाए रखने में अनुकरणीय योगदान दिया है

आपने और श्री रामकरण जी पत्रकार ने अपने विवाह बंधन में भी अतिथियों को पौधे वितरित कर अपने विवाह को ऐतिहासिक बनाया जिससे शहर को एक नई परंपरा देखने को मिली…

आपने शिक्षा अभियान/शैक्षिक गतिविधियों के अंतर्गत 2019 में बेस्ट टीचर ऑफ द ईयर का अवार्ड प्राप्त किया…

ग्रामीण महिलाओं और बच्चों को जागरूक कर महिला सशक्तिकरण में आपने अपनी प्रमुख भूमिका निभाई है

बच्चों को निशुल्क शिक्षा के साथ-साथ आपने शिक्षा सामग्री भेंट कर निरक्षरता रूपी अंधेरे के मध्य प्रकाशपुंज स्थापित किया है

चेहरे पर तेज, मुश्किल घड़ी में भी मुस्कुराना, हमेशा दूसरों का भला करना, भारतीय नारी के प्रत्येक गुण से अलंकृत आपकी विशेषता आपके व्यक्तित्व को और अधिक निखारती है

अपनी कड़ी मेहनत, लगन, त्याग, निराश्रित की दुआओं की बदौलत आज सूरतगढ़ शहर का नाम जागरूकता/ नारी शक्ति/ ग्रामीण विकास के मामले में अव्वल श्रेणी पर विराजमान है आपके नैतिक/ सामाजिक/ शैक्षणिक कार्यों को हमेशा सूरतगढ़ शहर के सुनहरे इतिहास में याद रखा जाएगा…

धन्यवाद..!

0 Comments

There are no comments yet

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *